Nitish Ke Sath Yatrayen

499.00

यह किताब नीतीश कुमार और उनके शासन व्‍यवस्‍था को समझने के लिये एक एनसाइक्‍लोपीडि‍या की तरह है। नीतीश कुमार ने अपने राजनैतिक जीवन के दौरान जितनी भी यात्राएं की है इसमें उनका विस्‍तार दिया गया है। अगर राजनीति में रूचि है तो इस किताब को एकबार जरूर पढ़ना चाहिये ।

In stock
9788196987572 , ,

Description

यह किताब नीतीश कुमार और उनके शासन व्‍यवस्‍था को समझने के लिये एक एनसाइक्‍लोपीडि‍या की तरह है। नीतीश कुमार ने अपने राजनैतिक जीवन के दौरान जितनी भी यात्राएं की है इसमें उनका विस्‍तार दिया गया है। अगर राजनीति में रूचि है तो इस किताब को एकबार जरूर पढ़ना चाहिये ।

लेखक परिचय –

मधुबनी जिले के बिरौल ग्राम के मूल निवासी. पटना में पढ़ाई-लिखाई. प्रभात खबर अखबार में पिछले 25 वर्षों से कार्यरत. इस दौरान पंचायत चुनाव से राष्ट्रपति चुनाव तक के कवरेज का मौका मिला. 25 साल की पत्रकारिता में कई ऐतिहासिक अवसरों पर रिपोर्टिंग की. पटना में हवाई जहाज दुर्घटना, बिहार विभाजन, लाल कृष्ण आडवाणी की यात्रा, प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी से रू-ब-रू जैसे महत्वपूर्ण अवसर शामिल हैं. 25 साल की पत्रकारिता में प्रभात खबर के अलावा कुछ दिनों तक राष्ट्रीय सहारा और नई दुनिया में भी कार्य का अनुभव लिया. आकाशवाणी पटना और दूरदर्शन पटना के समाचार प्रभाग से भी वर्षों तक संबद्ध रहा. पत्रकारिता जीवन के 25वें साल में प्रवेश के मौके पर अपनी दूसरी पुस्तक ‘नीतीश के साथ यात्राएं’ सबके सामने हैं. इसके पहले बिहार विधान परिषद द्वारा प्रकाशित ‘इंतिहास के झरोखे से’ किताब सदन की कार्यवाही का संकलन हैं. यह किताब विधान परिषद के सौ साल पूरे हाने के मौके पर प्रकाशित किताबों की श्रृंखला में से एक है. 2012 में तत्कालीन उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने इसका विमोचन किया था.

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Nitish Ke Sath Yatrayen”

Your email address will not be published. Required fields are marked *